खट्टर के दरबार में महिलाओं की इज्जत तार-तार

10th October 2017 | jansandesh.in

इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने भिवानी में सीएम खट्टर के कार्यक्रम में शरीक होने गई महिलाओं की चुनरी उतारने की घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ खट्टर सरकार का यह व्यवहार न केवल महिलाओं के स्वाभिमान और इज्जत को ठेस पहुंचाने वाला है बल्कि सरकार के सामन्तवादी चेहरे को भी उजागर करता है। इतना ही नहीं भिवानी के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री से मिलने गई एक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी को धक्के मार कर बाहर भी निकालना और गुड़गाँव में अंतरराष्ट्रीय महिला खिलाड़ी सुनील डबास पर गाड़ी चढ़ाने के आरोपियों को पुलिस द्वारा न पकड़ने की घटनाएं खट्टर सरकार का प्रदेश की महिलाओं के प्रति उदासीन नजरिया बताने के लिए काफी है। 
दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि कहने को खट्टर व उनकी सरकार महिलाओं की सुरक्षा, इज्जत शिक्षा के बड़-बड़े दावे करती है। बेटी-बचाओ, बेटी पढ़ाओ के नारे को बड़े जोर-शोर से बुलंद करती है और खिलाडिय़ों को सुविधाएं देने के ढिंढोरा पीटती है। पर असल तस्वीर कुछ ओर ही है। युवा सांसद ने कहा कि शनिवार को भिवानी में सीएम के कार्यक्रम में भाग लेने आई महिलाओं के सिर से न केवल काले रंग की चुनरी को खट्टर प्रशासन ने उतार दिया बल्कि काले रंग की डे्रस पहन कर आने वाले महिलाओं को निमंत्रण के बावजूद अंदर नहीं घुसने दिया। दुष्यंत ने कहा कि हरियाणा में महिलाओं की चुनरी, उनकी इज्जत होती है और महिलाएं बिना चुनरी के नहीं रहती। यह बात न तो सीएम खट्टर से छिपी है और न ही पुलिस अधिकारियों से। बावजूद इसके पुलिस प्रशासन द्वारा महिलाओं की चुनरी उतरवाने के पश्चात अनेक महिलाओं को बिना चुनरी के ही अपने घरों की ओर लौटना पड़ा। इतना ही नहीं सीएम से मिलने आई एक अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी को पुलिस कर्मियों ने मिलने नहीं दिया और उसे धक्के मार कर कार्यक्रम से भगा दिया। उन्होंने कहा कि गुडग़ांव एक अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी और पद्यमश्री अवार्डी सुनील डबास पर कुछ लोगों ने गाड़ी चढ़ा कर जान लेने का प्रयास किया। इस घटना पर भी खट्टर सरकार ने गंभीरता नहीं दिखाई और चार दिन बाद भी आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।  उन्होंने क हा कि हरियाणा सरकार के मुखिया के दरबार में ही महिलाओं की इज्जत उछाली जा रही है और महिला खिलाडिय़ों की सरेआम बेइज्जती की जा रही है। भिवानी में आयोजित सीएम के कार्यक्रम में जो महिलाओं के साथ जो सलूक हुआ वह इसका जीवंत प्रमाण है। यानिकि खट्टर के दरबार में महिलाओं की इज्जत तार-तार हो रही है। 



अन्य ख़बरें